स्मार्ट सिग्नल पैचिंग
Live System Measurements

स्मार्ट (Smaart) सिग्नल राउटिंग : ५ आसान स्टेप्स में!

स्मार्ट (Smaart) सिग्नल राउटिंग : ५ आसान स्टेप्स में!

Blog Post # 5.

नमस्ते दोस्तों , ये मेरा पहला ब्लॉग है जो में हिंदी भाषा मे कर रहा हु! इस ब्लॉग में हम देखेंगे की कैसे स्मार्ट (Smaart) चलाने के लिए हमें साहिसे सिग्नल राउट  करना चाहिए।

आप मे से काफ़ी लोगों से ये टॉपिक की रिक्वेस्ट आइ है।और मेरा ख़ुद का भी यह अनुभव रहा है कि हम जब दूसरों को  देखते है या कोई ट्रेनिंग लेते है तो सारे मेसरमेंट्स तो काफ़ी आसानी से आ जाते है।पर जब हम ख़ुद एक साउंड कॉर्ड लेके बैठते है तो काफ़ी सारा कन्फ़्यूज़न होता है की अब वाइरिंग कैसे करे और अगर कुछ कर ले तो सिग्नल सही जगह  नहीं जा रहा होता है।आज इस पोस्ट में हम वो सारी बातें देखेंगे ५ आसान स्टेप्स में ताकि बस २-३ मिनिटों  में आपका सेटप तय्यार हो सिस्टम मेसरमेंट्स  लेनेके लिए।

हमें लगने वाली चीज़ें :

१)साउंड कॉर्ड। (कम से कम २ आउटपुट और २ इनपुट)।

२)आर॰टी॰ए॰ (RTA) माइक।

३)२ TS से XLR केबल ।

४)१ लंबी XLR से XLR केबल।

हमें स्मार्ट का उपयोग करने के लिए कम से कम २ आउट्पुट और २ इनपुट वाले साउंड कॉर्ड की ज़रूरत होगी।में इस पोस्ट में इस तरह बताऊँगा की आप कोई भी साउंड  कॉर्ड का उपयोग कर सकते हो। और  मेरे ख़याल सबसे ज़्यादा लोगों के पास ‘ फोकस राइट स्कार्लेट २i२ (Focusrite Scarlett 2i2)’ ये साउंड कॉर्ड है तो साथ ही में विडीओ में वो भी दिखाऊँगा।मेरे पास Roland Octa Capture यह साउंड कॉर्ड है तो आपको स्मार्ट के मेरे सेटिंग्स में वो दिखेगा।और कोई कन्फ़्यूज़न ना हो करके मैंने उसे Soundcard  ये नाम दिया है।

मैंने अपने इस विडीओ में, सारे सिग्नल राउटिंग के साथ, स्मार्ट की कुछ बेसिक चीज़ें और सॉफ़्ट्वेर सेटिंग्स समझाए है तो इस विडीओ को ज़रूर देखिए!

विडीओ के डिस्क्रिप्शन  में मैंने टाइम्स्टैम्प डाला है तो अगर आप किसी स्टेप पे सीधे जाना चाहो तो आप वो सेक्शन पे क्लिक करके जा सकते हो।

तो अब हम शुरू करते है हमारे ५ आसान स्टेप्स :

जैसा कि आपने विडीओ में देखा :

स्टेप नम्बर १ : साउंड कॉर्ड कनेक्शन।

सबसे पहले हम अपना साउंड कॉर्ड कनेक्ट करके चेक कर लेंगे। उसके लिए हमें जाना होगा Options – Audio Device Options  में, और हमें देखना होगा की हमारा डिवाइस डिटेक्ट हुआ है और उसका स्टैटस (Status) OK बता रहा है।

Smaart Signal Routing
Smaart Audio Device Options

स्टेप नम्बर २ : इनपुट और आउट्पुट को फ़्रेंड्ली नाम देना।

हम अपने इनपुट और आउट्पुट को फ़्रेंड्ली नाम (Friendly Name) देंगे ताकी हमें हमेशा याद रहे की हम किस इनपुट और आउट्पुट में क्या पैच कर रहे है।

Smaart Input Friendly Names
Smaart Input Friendly Names
Smaart Output Friendly Names
Smaart Output Friendly Name

 

 

 

 

 

स्टेप नम्बर ३ : सिग्नल जनरेटर सेटिंग्स।

अब हम हमारे साउंड कॉर्ड से पिंक नॉज़ भेजने की सेटिंग करेंगे। Options  – Signal Generator में जाके सही आउट्पुट पैच करेंगे।

Main Output : हमारे साउंड कॉर्ड के Output L/Reference to Console से पिंक नोईस (Pink Noise) सिस्टम (मिक्सर/प्रासेसर) में जाएगी।

Aux Output : हमारे साउंड कॉर्ड के Output R /Reference to Sound Card  से पिंक नोईस (Pink Noise) वापिस साउंड कॉर्ड के Input 2/Reference In में आएगी,जो हर मेसरमेंट के लिए हमारा Reference सिग्नल रहेगा।

Smaart Signal Generator Settings
Smaart Signal Generator Settings

स्टेप नम्बर ४ : साउंड कॉर्ड केबल्लिंग  ।

अब वक़्त है केबल्लिंग करनेका , जो मेरे  ख़याल से अब काफ़ी आसान हो गया होगा क्यूँकि हमने अपने फ़्रेंड्ली नाम (Friendly Names) दिए रखे है।

अ)सबसे पहले हम Reference सिग्नल पैच कर लेते है : साउंड कॉर्ड  के Output R/Reference to Sound Card को हम कनेक्ट करेंगे हमारे साउंड कॉर्ड के Input 2/Reference In से।

Reference Signal Patching
Reference Signal Patching

ब)इसके बाद हम Reference सिग्नल भेजेंगे हमारे सिस्टम को : साउंड कॉर्ड के Output L/Reference to Console को हम कनेक्ट करेंगे हमारे सिस्टम से।

स्मार्ट (Smaart) सिग्नल रौतिंग
Reference to System

क)अब हम कनेक्ट करेंगे हमारे  आर॰टी॰ए॰ (RTA) माइक को अपने साउंड कॉर्ड के Input 1/Measurement Mic से।और ये होगा अब हमारा मेसरमेंट सिग्नल।

स्मार्ट (Smaart) सिग्नल रौतिंग
Measuring the System

और ईस तरह हमारी  सिग्नल पैचिंग पूरी हो गयी है, अब आपकी पूरी पैचिंग इस तरह दिखेगी।

स्मार्ट सिग्नल पैचिंग
The System Measurement Rig

हम लगभग तयार ही है अब,बस और कुछ सेटिंग्स बचे है।

स्टेप ५ : मेसरमेंट कोनफ़िगरेशन सेटिंग्स।

२ टाइप के मेसर्मेंट्स हमारे लिए महत्वपूर्ण है :

१)स्पेक्ट्रम (Spectrum) : जो १ चैनल मेसर करता है और इसमें हमें RTA मेसरमेंट मिलता है।

Smaart Signal Routing
Spectrum Measurment Config

२)ट्रान्स्फ़र फ़ंक्शन (Transfer Function) : इसमें हम हमारे सिस्टम के रीस्पॉन्स का निरीक्षण करते है।इसमें सिस्टम इनपुट और आउट्पुट को कम्पेर करके मेसरमेंट  मिलती है और इसी लिए २ सिग्नलस लगते है : १ Reference और १ Measurement।

Smaart System Routing
Transfer Function Measurement Config

ये सारे सेटिंग्स और पैचिंग होने पे अब हमें पूरी तरह तयार है System Engineering की दुनिया में शुरूवत करने के लिए।

आशा करता हु इस ब्लॉग को पढ़के और विडीओ देखने पे अब आसानी से आप सेटप करके मेसरमेंट के लिए तयार हो जाओगे।

ज़रूर लाइक कीजिए, शेर कीजिए और आपके सुझाव और विचार  नीचे कॉमेंट कीजिएगा !

शुक्रिया!

10 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0